admin

admin

This author admin has created 11 entries.

handicrafts

Charity for Indian Artisans

Artisans stand to gain a lot from our acts of charity. You too can play an important role by donating for a cause that aims to uplift the economic standards of the artisan community. The fact that someone out there can actually benefit from even a little that we have to offer is reason enough to be associated with handicrafts and related charity causes.

You can make a lot of difference in their lives by shelling out just a little change from your pocket. You can ensure that a potter far off in the villages of India or a bamboo crafts maker somewhere in the mountains of China can find true worth of their creations and gain access to better paying markets.

Story of Pashmina (Shawl)

At 5:30 am every day, 15100 feet above the sea level they rushed, separating his Pashmina goats ready for milking. The Changpa nomad and the goats both have learn to adapt to the tough terrain. The scenery is excited, unforgiving and beautiful. Be quick is to send the goats for the fodder of your day, a grazing pasture that might be miles away.

Beautiful elixir for the life of goats… In response to the severe cool of altitudes over about 15,000 feet, Capra Hircus, specie of goats produces an undercoat of extremely fine wool called Pashmina. “Soft gold”,

Internship Program Overview

Internship Program Overview

Internship Program provide management control experience to the youth in a learning environment through global internships in major upcoming sector, like educational sector technical spheres marketing and business sector, global entrepreneurs.

These internships are an opportunity to improve the skills and develop knowledge in a field of your choice, while building your professional and personal network of people from different nations and cultures. You get to choose from 1000s of internships around the globe. This multicultural exposure will widen your view and power drive your career chart as national and international work skill in the globalization context is considered immeasurably valuable.

Vivekananda

इन बातों से हमेशा के लिए अमर हो स्वामी विवेकानंद

देश के लाखों युवा मर – मिटने को तैयार हैं। देश के लिये यह भावना अच्छी है, लेकिन हर काम और हर संकल्प के लिये जरूरी है आपके खुद के नैतिक एवं जीवन मूल्य। और इनकी बात आते ही सबसे पहले नाम जहन में आता है स्वामी विवेकानंद का। क्या आप जानते हैं स्‍वामी विवेकानंद के बारे में ये खास बातें… “स्वामी विवेकानंद“, जिनका नाम आते ही मन में श्रद्धा और स्फूर्ति दोनों का संचार होता है। श्रद्धा इसलिये, क्योंकि उन्होंने भारत के नैतिक एवं जीवन मूल्यों को विश्व के कोने-कोने तक पहुंचाया और स्फूर्ति इसलिये क्योंकि इन मूल्यों से जीवन को एक नई दिशा मिलती है। 12 जनवरी को पूरे भारत में “

careers opportunity

अपने करियर को दे नई उड़ान मैत्रेय संस्थान के ज़रिये

अपने  करियर  की नई शुरुआत मैत्रेय संस्थान के साथ । मैत्रेय संस्थान के साथ जुड़कर आप कई राष्ट्रीय  एवं अंतरराष्ट्रीय Projects पे काम करेंगे । यह आपके आने भविष्य को और भी सुरक्षित करेगा और आपको अच्छी से अच्छी Multinational Company में Job दिलाने में सहायक होगा ।

हमसे जुड़ने के लिए इस (http://www.maitreyaorganization.org/internships-maitreya-organization/) पे Registration करें या अपना Name, Phone no., Age, Qualification, School or College का Name हमें Whatsapp+91 9636243039 करें या info@maitreyaorganization.org पे Mail करें।

धन्यवाद
मैत्रेय संस्थान
indian craftsmen life

भारतीय हस्तकरघा कलाकारों का जीवन

भारत “इनक्रिडिबल (अविश्वसनीय)” है, लेकिन जिन लोगों ने अपनी कड़ी मेहनत से “भारत” को पुरे विश्व में ये स्थान दिलाया है वो अपना ही बजूद स्थापित नहीं कर  पाएं । ऐसे भारतीय हस्तकरघा कलाकार जिन्हें कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है , आज मूलभूत सुविधाओं के बिना ही अपना जीवन व्यतित कर रहे थे । भारतीय हस्तकरघा कलाकारों को अपनी आजीविका, स्वास्थ्य, शिक्षा और उनके परिवार के सदस्यों की सुरक्षा के लिए भी कई कठनाईयों का सामना करना पड़ता है । ज्यादातर भारतीय हस्तकरघा कलाकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन व्यतित कर रहे थे । कई भारतीय हस्तकरघा कलाकारों को अपने दो वक्त की रोटी के लिए स्थानीय लेनदारों से ब्याज़ पर पैसे उधार लेना पड़ता है । और उनके काम से होने वाली आमदनी इतनी भी नहीं के वो अपना ऋण चुका सके । और यह एक बड़ी वजह की वो अपने खानदानी कला को छोड़ कर दूसरे व्यवसायों से आकर्षित हो रहे है ।

आजादी के बाद भारतीय हस्तकरघा कलाकारों के विकास के लिए से विभिन्न योजनाएं बनाई गयी है ।1963 में,

universal children’s day 2016

Celebrate Universal Children’s Day – Children Are Only Children Once

November 20th is the “UNIVERSAL CHILDREN’S DAY”, which marks the commemoration of the convention of the Rights of the Child. The education is not only a right in itself, but also an enabler of all other human rights.

In world, 121,000,000 (121 million) children are out of school, 25,000,000 (25 million) are expected never to enter a class room and 50 percent live in countries affected by conflict. Furthermore, 250,000,000 (250 million) children either do not make it to grade four or do not have basic skills in writing, reading by the time they reach grade four.

children day

Jawaharlal Nehru’s Contributions Towards Education

Nehru strongly believed in the scientific knowledge and propagated reasoning and rationality as the basis of all learning.

We all know that the first Prime Minister of India, Jawaharlal Nehru very fond of children and his birthday is observed as Children’s Day. But not many know that Jawaharlal Nehru played an important role in shaping country’s education sectors. He strongly believed in scientific knowledge and propagated reasoning and rationality as the basis of all learning.

children day

He believed that the role of education in an individual’s life was not restricted to academia alone but extended to one’s economic ambitions and social contributions as well.

Make Donation

विनम्र अपील

आप सभी से अनुरोध है कि इन बच्चो के उज्जवल भविष्य और अच्छी शिक्षा के लिए यथा योग्य मदद करें। आप अगर संसथान को किसी भी प्रकार की आर्थिक मदद करते है तो आपको TAX REBATE भी मिलेगी साथ ही मानसिक शांति भी।
Make Donation

Please write us on info@maitreyaorganization.org if want to make a donation.

FOR DONATION (BANK TRANSFER)

Bank Name  – PNB (Punjab National Bank).
A/c No. – 4079000100040032
Account Name –

विदेशी हटायें, स्वदेशी अपनाएं, स्वस्थ और समृद्ध देश बनायें

हमारे देश के जवान सीमा पर पाकिस्तान के खिलाफ डट कर लड़ते हैं ताकि हम चैन से सो सके । तो क्या हम अपने देश के जवानों और देश की आर्थिक व्यवस्था में सुधार लाने के लिए विदेशी वस्तुओं का बहिष्कार नहीं कर सकते ?? जब हमारे देश को चीन के समर्थन की जरुरत थी (उरी हमला), तब चीन ने पाकिस्तान का साथ देकर आतंकवाद को बढ़ावा दिया । ऐसे में हमारी जिम्मेदारी है की हम चीनी सामानों का बहिष्कार कर स्वदेशी सामानों को अधिक से अधिक अपनाएँ। ऐसा करने से हमारे देश की उन्नति होगी और तभी हम आगे बढ़ पाएंगे। चीन,

error: Content is protected !!
Submit Your Video